Bulandiyon Ka Guman, Jo Karne Lagta Hai….




Inspirational Shayari Images
बुलंदियों का गुमाँ,
जो करने
लगता है।
मुक़द्दर भी उसका,
पलटने लगता
है ॥
करें तो करें
क्या गिला,
किसी से
यहाँ,
धूप में साया
भी, सिमटने
लगता है
रिश्तों में गर
दूरियाँ, बढ़
जाए तो,
घर, दीवारों में
फिर, बँटने
लगता है





Leave a Reply