Bigdi Meri Bana Do Dukh Dard Sab Mita Do




बिगड़ी मेरी बना दो, दुःख दर्द सब मिटादो,
दुःख सब के हरने वाले, मेरे बाबा भोले भाले।
मेरे शम्बू भोले भाले, मेरे बाबा भोले भाले॥

कोई भूल हो गयी हो, मेरे स्वामी माफ़ करना।
सेवक हैं हम तो तेरे, तुम दाता हो हमारे॥

दुःख संकटों से बाबा मुश्किल में घिर रहा हूँ।
शम्भू मुझे बचालो, मैं शरण में तुम्हारी॥

विषपान कर के तुने देवों को था बचाया।
कृपा का दान देकर, निर्बल को बचालो॥

सदीओं से मेरे बाबा, द्वारे तेरे पड़ा हूँ।
गोदी में अब उठालो, पड़ा चरणों में तुम्हारे॥





Shiv Shankar Damru Wale Mera Sahara Tu Hi Hai




शिव शंकर डमरू वाले मेरा सहारा तू ही है,
लोक्कां दे लक्खा सहारे मेरा सहारा तू ही है
मेरा सहारा तू ही है, मेरा सहारा तू ही है ,

तेरी जटों में गंगा साजे, गल नाग राज विराजे
तू तो सबके कष्ट मिटादे, मेरा सहारा तू ही है,
शिव शंकर डमरू वाले मेरा सहारा तू ही है,
लोक्कां दे लक्खा सहारे मेरा सहारा तू ही है

तेरी माथे में चन्दा साजे, कानो में कुंडल साजे
तूने लाखों पापी तारे, मेरा सहारा तू ही है,
शिव शंकर डमरू वाले मेरा सहारा तू ही है,
लोक्कां दे लक्खा सहारे मेरा सहारा तू ही है

तू खावे भंग के गोले, तू अलक निरंजन बोले
तू द्वारे दया के खोले, मेरा सहारा तू ही है,
शिव शंकर डमरू वाले मेरा सहारा तू ही है,
लोक्कां दे लक्खा सहारे मेरा सहारा तू ही है

मेरी नैया डगमग डोले, इक तू ही है रे खीवया
मेरी नैया पार लगादे, मेरा सहारा तू ही है,
शिव शंकर डमरू वाले मेरा सहारा तू ही है,
लोक्कां दे लक्खा सहारे मेरा सहारा तू ही है

जग वालो ने ठुकराया, मैं द्वारे तेरे पे आया
अब तू तोह मुझे अपनाले, मेरा सहारा तू ही है,
शिव शंकर डमरू वाले मेरा सहारा तू ही है,
लोक्कां दे लक्खा सहारे मेरा सहारा तू ही है





Subah Subah Le Shiv Ka Naam Kar Le Bande Yeh Shubh Kaam




सुबह सुबह ले शिव का नाम, कर ले बन्दे यह शुभ काम ।
सुबह सुबह ले शिव का नाम, शिव आयेंगे तेरे काम ॥

खुद को राख लपेटे फिरते, औरों को देते धन धाम ।
देवो के हित विष पी डाला, नील कंठ को कोटि प्रणाम ॥
सुबह सुबह ले शिव का नाम, शिव आयेंगे तेरे काम ॥

शिव के चरणों में मिलते सारी तीरथ चारो धाम ।
करनी का सुख तेरे हाथों, शिव के हाथों में परिणाम ॥
सुबह सुबह ले शिव का नाम, शिव आयेंगे तेरे काम ॥

शिव के रहते कैसी चिंता, साथ रहे प्रभु आठों याम ।
शिव को भजले सुख पायेगा, मन को आएगा आराम ॥
सुबह सुबह ले शिव का नाम, शिव आयेंगे तेरे काम ॥





Tum Ko Lakho Pranam Tumko Mera Pranam




शिव शंकर भोले भाले, भोले भक्तो के रखवाले ।
तुम को लाखों प्रणाम, तुमको मेरा प्रणाम ॥

तुमने यह संसार बनाया, सभी तुम्हारी माया छाया ।
सर्पों की माला वाले, कैलाश पर्वत वाले,
तुम को लाखों प्रणाम, तुमको मेरा प्रणाम ॥

तुम जल थल में तुम अम्भर में, तुम हो नगर नगर घर घर में ।
तुम हो लहर लहर स्वर स्वर में, कहाँ नहीं तुम हो जग भर में ॥
डमरू के बजने वाले, दुष्टों को मिटाने वाले ।
तुम को लाखों प्रणाम, तुमको मेरा प्रणाम ॥

हर हर हर महादेव का नारा, नर नारी घर घर का प्यारा ।
दीप तुम्हारा तेल तुम्हारा, दुनिया का सब खेल तुम्हारा ॥
हे खेल खिलाने वाले, त्रिभुवन की नचाने वाले ।
तुम को लाखों प्रणाम, तुमको मेरा प्रणाम ॥





Liya Naam Jisne Bhi Shivji Ka Man Se Use Bhole Shankar Ne Apna Banaya




लिया नाम जिसने भी शिवजी का मन से,
उसे भोले शंकर ने अपना बनाया।
खुले उस पे सब द्वार शिव की दया के,
जो श्रद्धा से भोले के मंदिर में आया॥

हर हर हर महादेव की जय हो।
शंकर शिव कैलाशपति की जय हो॥

चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तो,
शिव जी के चरणों में सर को झुकाए।
करें अपने तन मन को गंगा सा पावन,
जपें नाम शिव का भजन इनके गाएं॥

यह संसार झूठी माया का बंधन,
शिवालयमें मार्ग है मुक्ति का भक्तो।
महादेव का नाम लेने से हर दिन,
मिलेगा हमें दान शक्ति का भक्तो।
मिट्टी में मिट्टी की काया मिलेगी,
चलो आत्मा को तो कुंदन बनाएं॥

कहीं भी नहीं अंत उस की दया का,
करें वंदना उस दयालु पिता की।
हमें भी मिले छावं उसकी कृपा की,
हमे भी मिले भीख उसकी दया की।
लगाकर समाधि करें शिव का सिमरन,
यूँ सोये हुए भाग्य अपने जगाएं॥

करें सब का कल्याण, कल्याणकारी,
भरे सबके भण्डार त्रिनेत्र धारी।
कोई उसको जग में कमी ना रहेगी,
बनेगा जो तनमन से शिव का पुजारी।
करे नाम लेकर सफल अपना जीवन,
यह अनमोल जीवन यूँही ना गवाए॥